Shipping in all over the world

cardamom-kerala-spices

इलायची के बारे में कुछ दिलचस्प जानकारी

भारतीय मसालों में इलायची का एक अहम् स्तान रहा है । लगभग हर भारतीय रेडियो में आसानी से मिलनेर वाली इलायची खुशबु का ख़ज़ाना है। इससे खाने में स्वाद और फ्लेवर बटाने के साथ साथ मुँह को ताज़ा रकने में भी उपयोग किया जाता है। स्वीट डिश में इसका फ्लेवर लाजवाब लगता है। इलायची वाली चाय भी सभी को मनपसन्त्त है । माना गया है की दिन में सिर्फ २ इलायची खाने से कयींतरह की हेल्थ प्रोब्लेम्स से बच सकती है।

इलायची में आयरन जिंक राइबोफ्लेविन सल्फर विटामिन सी और नियासिन पाया जाता है जो हर तरह से हमारे लिए फायदेमंद होते है। साथ ही साथ यह कई सारी भीमारियों से करने में भी सहायक होती है।

इलायची मुख्यतः दो प्रकार की होती है —बड़ी इलायची या ब्लैक कार्डामम और छोटी इलायची या ग्रीन कार्डामम। इलायची का ौषधिया महत्त्व के कारण आयुर्वेद और यूनानी चिकित्सा में इन दोनों का उपयोग होता है।
बड़ी इलायची व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने केलिए मसाले के रूप में उपयुक्त होती है भाई हरी इलायची का प्रयोग मिठाईयों की स्वाद बड़ाने में होती है। बड़ी इलायची दिकने में बड़ी और मोटे चिली की होती है यह खाने में थोड़ी कड़वी होती है । इसका उपयोग आमतौर पर सब्जियों को ज़ायकेदार बनाने केलिए किया जाता है । गरम मसलों में इसका उपयोग होता है. चोले राजमा पुलाव इत्यादि थो बड़े इलायची के बीना अंदूरे है।
छोटी इलायची से टेरोम फायदे है। यह पाचन में हलकी भूक बटाने वाली और भोजन को पचाने वाली होती है जो मुँह की बदबु दूर करती है ज़ुकाम खासी पेशाब की समस्यावो दर्द गैस सूजन जैसे चार्म रोग में भी खाफी लाभकारी है ।

भारत बुटॉन नेपाल और इंडोनेशिया को ईलायची का मूलः क्षेत्र माना जाता है।
भारत में इलायची ला उतपादन केरला, कर्नाटक और तमिलनाडु में सबसे ज़्यादा किया जाता है। सिक्किम उत्तरकाण्ड व अन्य उत्तेर पूर्वि राज्यों में भी इलायची उदपादन की जाता है। इलायची उत्पातक देशों में भारत का नाम अगृगाङ्य पाया गया है । इसमें सिक्किम का योगदान सर्वातिक है।

 

१  सेहद केलिए फायदेमंद इलायची:
इलायची का इस्तेमाल सर्फ मसाले के रूप में ही सीमित नहीं है । इसका प्रयोग पाचन स्वस्थ्य को बेहतर बनाने से लेखर कैंसर जैसे बीमरियों के चिकित्सा में भी इस्तेमाल किया जाता है । यह कई महत्वपूर्ण विटामिनों से समृद्ध है जैसे राइबोफ्लेविन विटामिन सी अदि । इलायची का औषधीय लाभों का श्रेय इसमें शमिल एंटीसेप्टिक ऑक्सीडेंट भूक बड़ाने वाले और टॉनिक गुणों को जाता है। जानिये इलायची किन किन समस्यावो केलिए फायदेमंद होते है ।

२ पाचन शख्ती को उत्तेजित करने में फायदेमंद है इलायची:
इलायची के प्रयोग से पाचन शक्ति बढ़ती है. हर रोज़ इसके सेवन करने से पाचन सम्बन्धित समस्यावो से आसानी से राहत मिल सकता है । पेट सम्बन्धी समस्याएं जैसे भूक एसिडिटी गैस सीने में जलन कब्ज आदि में भी इलायची का सेवन फायदेमंद पाया गया है। इलायची में उच्च गुणवत्ता वैल्यू गुण मौजूत है जो पाचन प्रक्रिया को उत्तेजित रकता है। पित्थ के प्रवाह को बढ़ाकर अन्य पोषक तत्वों के पाचन में भी सुथार लाती है इलायची।

३  मुँह को स्वस्थ रके इलायची:
इलायची में जो अंतिमिक्रोबियल्स गुण मौजूत है वन मुँह के स्वस्थ्य के लिए कारगर सिद्ध हो सकते है। कुछ अध्ययनों के अनुसार इलायची स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटेंट्स जैसे रोगजनकों से रक्षा कर सकति है । इलायची के तेज़ स्वाद फॉर प्रवार को उत्तेजित करके दांतोँ को टूटने की आशंका कम करती है। इसी तरह इलायची में मौजूत गुण मुँह के अलसर और संक्रमण से बचाव करता है। इसीलिए इलायची का सबसे ज़्यादा उपयोग माउथ फ्रेशनर के रूप में किया जाता है।

४ हृदय स्वास्थ्य केलिये फ़ायदेमंद ईलायची :
इलायची एंटीऑक्सीडेंट गुण से समृद्ध होती है।यही गुण के कारण हृदय स्वस्थ्य के बटावा देता है। इसमें जो फाइबर मौजूत है। कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर हृदय को फायदा पहुंचा सकता है। काली इलायची हरी इलायची की तुलना में ज़्यादा कारगर तरीके से काम करता है। यह मेटाबोलिक सिंड्रोम पर ज़्यादा प्रभावी रूप से काम कर सकती है।

५ डिप्रेशन के इलाज केलिए इलायची:
एक स्वस्थ्य अध्ययन के अनुसार इलायची लोगो को डिप्रेशन से निपटने में मदद करता है। इसकेलिये इलायची का पाउडर रोज़ाना चाय में चुटकी भर इस्तेमाल करके सेवा जार सकते है।सकारात्मक परिणाम को मेहसूस करवाता है ईलायची ।

६ अस्थमा का इलाज:
अस्थमा के मरीज़ो केलिए भी फायदेमंद होती है इलायची। अस्थमा के लक्ष्ण जैसे खासी साँस लेने में ताकलीफ़ और सीने में जकड़न अदि को समाप्त करके रक्त संचालन में मदद करके साँस लेना आसान बनाती है इलायची। इसके अतिरिक्त यह म्यूकस मेम्ब्रेन को भी आराम पहुंचा कर दर्द व सूजन की समस्या को भी ख़तम करती है।

७ ब्लड प्रेशर को करे कम:
अध्ययनों का मानना है की इलायची रक्त चाप को कम करने की क्षमता रकती है । इलायची में मूत्रवर्दक फोब्र्स के साथ साथ पोटैशियम युक्त्त मसाले होते है जो रक्त चाप को सामान्य रकते है.रक्त चाप की समस्या से ग्रस्त लोग इलायची का सेवन करने से शरीर में रक्तचाप का स्तर ठीक रहता है।

८ कैंसर से रोकथाम :
इलायची का इस्तेमाल कैंसर के प्राकृतिक उपचार केलिए किया जा सकता है। जानवरों पर किये गए परीक्षण से साबित हुआ है की इलायची कैंसर को आने से रोकने में मददगार हो सकती है। इलायची में जो केम्प प्रिवेंटिव गुण होता है यह त्वचा के कैंसर केलिए लाभकारी हो सकता है।

 

९ शरीर को डेटॉक्स करने में फायदेमंद है इलायची:
इलायची शरीर को डेटॉक्स करने का काम भी करता है। अंतिमिक्रोबियल् गुण से समृद्ध होने के कारण इलायची शरीर से हानिकारक बैक्टीरिया को निकलने का काम भी करता है। इसके सेवन से शरीर में मौजूत सभी विषैले व व्यर्त पथार्थ किडनी से बाहर निकल जाता है।

इलायची के अन्य कई गुण भी है जैसे त्वचा केलिए बाल केलिए याद्दाश केलिए असिडिटी केलिए इत्यादि । ऐसे अनगिनत गुणों का बन्डार है इलायची। इलायची दुनिया का तीसरा सबसे महँगा मसाला है जो पानी खास सुगंध और ज़ायके की वजह से ‘मसालों की रानी ‘ जाने जाते है।इलाइची के इतने सारे गुण और फायदों को जानकर आप इस मसाले को हर रोज़ इस्तेमाल करने से अपने आपको नहीं रोक सकेंगे ।

Top
thottam-farmfresh
Spices

Thottam Farm Fresh Pvt. Ltd.
1/422A, Thuravoor P.O., Vathakkad
Angamaly, 683 572
Kerala, India
Ph: +91 9746712728
E: care@thottamfarmfresh.com

Follow Us Now