Green Elaichi

  इलायची के बारे में कुछ दिलचस्प जानकारी 

Food & Health

भारतीय मसालों में इलायची का एक अहम् स्तान रहा है । लगभग हर भारतीय रेडियो में आसानी से मिलनेर वाली इलायची खुशबु का ख़ज़ाना है। इससे खाने में स्वाद और फ्लेवर बटाने के साथ साथ मुँह को ताज़ा रकने में भी उपयोग किया जाता है। स्वीट डिश में इसका फ्लेवर लाजवाब लगता है। इलायची वाली

Masala Tea

क्या है मसाला चाय

Food & Health

दुनिया भर में गरमा गरम चाय के शौक़ीन लोगो की कई नहीं है । ज़्यादातर लोगों के दिन की सुरुवात ही चाय से होती है। पानी जे बाद चाय ऐसा पेय पदार्थ है जो दुनिया में सबसे ज़्यादा पिया जाता है। शुरू में चाय केवल सर्दियों में दवाई कि तरह पी जाती थी। इसे रोज़ा

green-tea

ग्रीन टी के 10 फायदे

Stories in Hindi

ग्रीन टी के 10 अद्भुत फायदे   ग्रीन टी एक प्रकार की चाय है जो कमेलिए सिनेसिस नामक पौदे की पत्तियों से बनायी जाती है । इनके बनाने की प्रक्रिया में ऑक्सीकरण न्यूनतम होता है । इसका उधगम चीन में हुआ था और आगे चलकर एशिया में जापान से मदयपूर्व की कई संस्कृतियों से सम्बंदित

Ceylon Cinnamon

दालचीनी के १० फाएदे

Stories in Hindi

दालचीनी के १० फाएदे   दालचीनी जो लगभग हर भारतीय गलियों में आसानी से मिलते है सर्फ एक मसाला भी नहीं वालकि एक ओषधि भी है।   इसमें महमूद एंटीऑक्सिडेंट्स गुण कई बीमारियों जैसे आर्थराइटिस डायबिटीज यहाँ थक की कैंसर से भी सुरक्षित रकता है । दालचीनी किश प्रकार आपकी स्वस्थ्य और शरीर केलिए लाभकारी

dalchini ke fayde

दालचीनी के बारे में आप क्या क्या जानते है?

Stories in Hindi

दालचीनी क्या है? दालचीनी का पेड़ हमेशा हराभरा तधा छोटी जाडी जैसा होता है जिनके तन की छाल स चुननकर सुखाई जाती है | दालचीनी के पेड़ से हमेशा सुगंध आती है और इसका उपयोग मसालोँ  और दवा के तौर पर किया जाता है |इसका तेल भी निकाला जाता है | दालचीनी की उतपति : सबूत बताते है की प्राचीन दुनिया भर में दालचीनी का इस्तेमाल किया गया था |अरब व्यापारियों ने इसे यूरोप तक लाया | कहा जाता है कि कैसिया दालचीनी इंडोनेशिया  में पाया जाता है और सीलोन दालचीनी  का उतपादन श्रीलंका के कोलोंबो  में होता है | दालचीनी के दो प्रकार होते है : * सीलोन दालचीनी और * कैसिया दालचीनी सीलोन दालचीनी:सीलोन या रियल दालचीनी श्रीलंका और भारत के दालचीनी भागो के मूल निवासी है | यह सिनेमन सीरम के पेड़ की आंतरिक चाल से बनाया जाता है |यह रंग में लाइट भूरा रंग का होता है | और इसमे नरम पर्थम के साथ कई तंग छडि होती है |इन सब गुणों के कारण दालचीनी को एक उच्च वांछनीय गुणवथा और बनावट प्रधान करते है| सामान्य उपलब्ध कैसिया किस्म की तुलना में सीलोन दालचीनी कम प्रचलित और काफी महंगी है | इस के नाज़ुक और हलका स्वाद के कारण यह मिटाई केलिए उपयुक्त स्वाद माना जाता है |   सीलोन दालचीनी और कैसिया दालचीनी में अनतर : सीलोन दालचीनी  अक्सर शुद्ध दालचीनी या रियल दालचीनी  कहा जाता  है |यह मुख़्य रूप से श्रीलंका में पाया जाता है| कैसिया दालचीनी  आमतौर पर कई विभिन्न प्रकार के दालचीनी का मिश्रण है |   इन दोनो में एक मुख़्य अंतर यह है की सीलोन दालचीनी  में बहुत कम मात्रा में कुमारींन होता है | कुमारींन एक प्राकृतिक  यौगिक है जो दालचीनी में पाया जाता है |   स्वाद तथ्य पर नज़र डाले तो सीलोन दालचीनी नाज़ुक और मीटा  है और मिटाई के लिए उतकृष्ट स्वाद बढ़ाती है |   कैसिया दालचीनी तीखा और कडुवा होता है और ब्रेज़्ड चिनी व्यंजनों केलिए अनुकूल है|   सीलोन दालचीनी मुख्या रूप से यूरोप को निरयाथ किया जाता है जब की कैसिया दालचीनी अधिकतम अमेरिका और एशिया में पाई जाती है |   सीलोन दालचीनी एक प्रीमियम  मूल्य में बिकता है यानि कैसिया दालचीनी की कीमत से १० गुणा अद्दिक | दालचीनी  का उपयोग :  * दुनिया भर में दालचीनी का उपयोग केक  कूकीज और देस्सेर्ट्स में बेकिंग मसाला के रूप में करता  अरहा है | मध्य पूर्वी देशों के दिलकश चिकन और लैंप के व्यंजनो में भी दालचीनी का इस्तेमाल  किया जाता है|    * अन्य उपयोग  रक्त शर्करा के स्तर ओके नियन्थित करने में है |  * शरीर के वज़न ओके कम करने केलिए भी दालचीनी का इस्तेमाल किया जाता है|  * दालचीनी में मौजूत एंटी बड़कावु और एंटी बैक्टीरियल गुण समग्र स्वस्थ्य को बड़ावा देने में मदद करता है | दालचीनी के स्वस्थ्य फायदे : दालचीनी  के स्वस्थ्य फायदे कुछ इस प्रकार है : १  विरोधी थक्के की क्षमता: दालचीनी के सावेश महत्वपूर्णु स्वस्थ्य लाभों में से एक इसकी विरोधी  थक्के की क्षमता  है ;जो सिनेमालदेहीदे से मिलता है जो दालचीनी  में भरपूर है  | २  रक्त शर्करा नियंत्रण : दालचीनी  में रक्त शर्करा को नियमित करने में मदद करने की क्षमता है नो आइल एंटी भटकावु गुण के कारण होता है | ३ फूंगल संक्रमण  से लडे :

काली मिर्च

मसालों का राजा : काली मिर्च

Stories in Hindi

क्या है काली मिर्च : किंग ऑफ़ स्पाइस या ब्लैक गोल्ड के नामसे मशहूर काली मिर्च सदियों से राम बाणमाने जाते है| आयुर्वेद में इस मसले को सभी तरह में बक्टे रिया वायरस आदि का नाश करने वाली औषदिमाना जाता है| काली मिर्च में एंटी ऑक्सीडेंट गुण है और यह प्रतिरोथक क्षमता बढ़ाती है हमा री शारीरिक संरचना की रक्षा करने केलिए यह किश सुपर

शहद के बारे मैं कुछ रोचक तथ्य:

Stories in Hindi

शहद क्या है: शहद या मधु एक मीटा अरथ तरल  पथार्थ है जॉ मधुमक्खियॉं द्वारा फूलों मैं स्थित मधुरस से तैय्यार कया जाता है | शहद  मैं वो मीठापन है जो मुक्यता ग्लूकोस और फ्रुक्टोज़ के कारण होता है | शहद कैसे एकत्रित क्या जाता है: आप यह तो जानते होंगे कि शहद मधुमखियों से प्राप्त होता है |एक नाज़र ङालते है इस प्रक्रिया पर| शहद  मधुमखियों का भोजन होता है |मधुमक्खियों को सर्दीयों में भोजन केलिए १० से १५ किलो शहद की ज़रूरत होती है | लेकिन मौसम  अच्छा होने पर क़रीब २५ किलो शहद  एक छठ्ठे मैं तैय्यार हो  सकता है | और और इस तराह ज़रूरत से ज़्यादा तैय्यार हुआ शहद  इंसानों द्वारा इ कटा किया जाता है| मधुमखियोंफूलोँ  मैं मड़राकर अपने नेलि जयसे जीभ से फूलों का रज़ चूसकर  पेट मैं जमा करता है | भृरपेट मागरंथ पीने के भाद मधुमखि का पेट सामान्य से ज़्यादा लम्बा हु जाता है | यह मकरंथ शक्कर का खोल होता है जिसमें लागभग २५ से ५० प्रतिशत शक्कर होती है इस मकरंथ को करीब आधे घंटे तक चबाकर इस मैं अपने मूह की एंजाइम  मिलाती है | इसके बाद मकरंथ  को चैम्बर्स  मैं रखे जाते हैं|जब इसमें पानी की मात्रा १८% से बी कम  रहजाति है तब इस रस से बरे खानों को मोम मोम की इक पतली परत से ठक दिया जाता है | यह टका हुआ शहद बिना कराब हुए हमेंशा तक रका जासकता है |शहद जितना पुराना होता है उतना ही फायदेमंद रहता है| शहद के कुछ रोचक तथ्य: *   ५०० गम शहद बनाने केलिए मधुमखियों को २मिल्लिओं फूलों का रस और लगभग ८८ की उड़ान भरने की आवश्यकता होती है | *   जब शहद  को एक वायु रूट कंटेनर में सील किया जाता है तो शहद  उन कुछ खाज पदार्थों में से एक बन जाता है जिने कई सालो तक रक्का जा सकता है | *   शहद को लैबे समय से ऊषादी प्रयोजनों में उपयोग किया जाता है |अपने एंटी बैक्टीरियल  गुंण के कारण शहद का उपयोग जलन  संक्रमण पैट के अलसर जैसे विभिन्न  प्रकार की बीमारियों के लिए किया जाता है | *   शहद में हमारे शरीर को ऊर्जा देने के लिए पानी विटामिन्स मिनरल्स और एन्ज़इम्स  भी होते है | *   कई ओषधिय प्रयोजनों में इलावा यह प्राकृतिक घरेलू उपचार में एक लोकप्रिय घटक है| यह अक्सर शैम्पू और लोशन जैसे व्यक्तिगत उत्पादों में उपयोग किया जाता है | *   गले में खराश को शांत करने के लिए और खांसी को शांत करने केलिए शहद  एक प्राकृतिक उपचार माना जाता है | सेहद के लिए शहद के कुछ बेमिसाल फ़ायदे: १|वजन काटने में मददगार २|सर्दी और ज़ुकाम में फ़ायदेमंथ ३ मदुमेह के दौरान शहद ४ काटने  जलने और खाव केलिए शहद ५ उच्च रक्त चाप में शहद ६ कोलेस्ट्रॉल  को करता है कम ७ शरीर ओके एनर्जी  प्रादान करता है ८ हड्डियों को करता है मज़बूत ९   रोग प्रतिरोधक क्षमता ओके बढ़ाता है

काली मिर्च

काली मिर्च (kali mirch) के फायदे

Stories in Hindi

काली मिर्च जिनसे हम सब वाकिफ है,लेकिन उनके फायदे से नहीं.एक नज़र सलथे है काली मिर्च के कुछ अनगिनत फायदों से. काली मिर्च (kali mirch) एक फूल वाली बेल है ,जो फल के लिए उपयोगी मने जाते है.वैज्ञानिक रूप से इसे पाइपर नायग्राम कहा जाता है.जब यह सूख जाता है,थो इसे मसाले के तौरपर इस्तेमाल

शहद के कुछ फायदे जिनसे आप वाकिफ नहीं

Stories in Hindi

क्या शहद (Shahad) के फायदे से अप्प वाकिफ है ,जो हमारे पूर्वजो के ज़माने से चले आ रहे है? शहद(Shahad) के अनेक फायदों में से कुछ फायदों से ,आपको हम वाकिफ करते है। ओषदि से लेखर पकवान और सौंदर्य वरदक के रूप में  शहद(Shahad) का इस्तेमाल हो रही है। सदियों से चली आ रही है